आयुर्वेदिक लिवर डिटॉक्स: लिवर को स्वस्थ रखने का सबसे आसान और प्राकृतिक तरीका

आयुर्वेदिक लिवर डिटॉक्स: लिवर को स्वस्थ रखने का सबसे आसान और प्राकृतिक तरीका

लिवर हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है जो हमारे स्वास्थ्य (health) के लिए कई कार्यों को पूरा करता है। यहां हम जानेंगे की लिवर हमारे शरीर में क्या काम करता है, लिवर में क्या-क्या समस्याएं हो सकती हैं,लिवर को स्वस्थ रखने के लिए कैसे आयुर्वेदिक उपाय सहायक हो सकते हैं तथा लिवर को healthy रखने के लिए कौन-कौन से उपाय हैं।

लिवर का कार्य:-

लिवर मानव शरीर का एक मुख्य अंग  है, जो ग्लूकोज़ को ग्लाइकोजन में बदलता है, तथा ब्लड शुगर को नियंत्रित करना, रक्त में मिले हुए विषैले पद्धार्थों को छानना, पाचन में मदद करना शरीर को ऊर्जा प्रदान करना जैसे मुख्य कार्य करता है , यह हमारे शरीर के बहुत से कार्यो को पूरा करता है, इसलिए लिवर को स्वस्थ रखना बहुत आवश्यक है। 


लिवर की समस्याएं:-

लिवर की कुछ समस्याएं जैसे की फैटी लिवर (fatty liver),सिरोसिस (cirrhosis) और हेपेटाइटिस (Hepatitis) आदि हैं, 


लिवर में कुछ मात्रा फैट का भी होता है, लेकिन जब यह मात्रा लिवर के वजन के 5% से 10% तक पहुँच जाती है तो फैटी लिवर की समस्या हो सकती है। फैटी लिवर कोई बहुत बड़ी बीमारी नहीं है लेकिन किसी गंभीर रोग में ये लिवर के कार्यो को प्रभावित(effect) करता है।  


सिरोसिस होने के कई कारण हो सकते है, जैसे की शराब, ज्यादा फैट, कुछ दवाएं, वायरस, जहरीली धातुवें जैसे लोहा, तांबा तथा कभी-कभी शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली(Defence system) भी लिवर को इफ़ेक्ट करने लगती है, जिससे सिरोसिस होने का खतरा बढ़ जाता है। 


हेपेटाइटिस एक बीमारी है जिसके कारण लिवर में सूजन हो सकता है तथा ये लिवर को इफ़ेक्ट करता है, यदि ये कंट्रोल से बाहर हो जाये तो लिवर फेल या लिवर कैंसर भी हो सकता है। हेपेटाइटिस वायरस के कारण हो सकता है और इसके कई प्रकार होते हैं, जैसे कि हेपेटाइटिस ए, बी, सी, डी, और इत्यादि। 


.फैटी लिवर

.सिरोसिस

.हेपेटाइटिस 

लिवर की समस्याएं

 

लिवर को स्वस्थ रखने के उपाय:-

ऐसे बहुत से तरीके हैं जिनकी सहायता से हम अपना लिवर स्वस्थ रख सकते हैं, जिनमे सही आहार, व्यायाम, नियमित चेकअप तथा कुछ आयुर्वेदिक उपाय शामिल हैं।  


सही आहार(Diet):  स्वस्थ लिवर के लिए सही आहार एक महत्वपूर्ण कदम है, जिससे लिवर को सही से काम करने में मदद मिलती है, जैसे:


हरी सब्जियां और फल: हरी सब्जियां और फल, फाइबर से भरपूर होते हैं और लिवर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।


पूर्ण अनाज: ब्राउन राइस, व्हीट, ओट्समील, और रोटी लिवर के स्वस्थ कार्यक्षेत्र को सुनिश्चित करने में मदद कर सकते हैं।


प्रोटीन: मछली, अंडे, दालें, और दही लिवर को ठीक से काम करने में मदद कर सकते हैं।


सही तेल: सनफ्लॉवर और ऑलिव ऑयल का उपयोग करें, ये लिवर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।


हरी चाय: हरी चाय में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो लिवर की सफाई में मदद करते हैं।


हिंग और गरम मसाले: हिंग, ताजगी वाले मसाले और गरम मसाले पाचन को सुनिश्चित करने में मदद करते हैं।


गुड़: गुड़ में अनेक पोषणतत्व होते हैं, जो लिवर के लिए फायदेमंद हो सकते हैं।


ध्यान रखें कि पानी पीना भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह लिवर को स्वस्थ रखने में मदद करता है।


योग और व्यायाम: योग और व्यायाम करना लिवर के लिए बहुत फायदेमंद होता है, जिससे शरीर से विषैले पदार्थों को बहार निकलने में सहायता मिलता है और सामान्य स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद मिलती है।


GOODVEDA YOGA SESSIONS

JOIN WEBINAR


पूर्ण नींद: दिनभर की तनाव और थकान से बचने के लिए प्रतिदिन 7-8 घंटे की पूरी नींद लें। यह लिवर के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।


इनके अलावा भी कुछ आसान टिप्स हैं, जो आपकी लिवर को स्वस्थ रख सकती हैं:

 

हाइड्रेट रहें (stay hydrated),

शराब की मात्रा को नियंत्रित करें (control the amount of alcohol),

स्वस्थ वजन (healthy weight) बनाएं,

धूम्रपान से बचे (avoid smoking),

टीकाकरण कराएं(Get vaccinated),

तनाव को कम करें (reduce stress),

नियमित स्वास्थ्य जाँचें (Health check-up) ,

जंक फूड को कम करें (reduce junk food)

लिवर डिटॉक्स का उपयोग करे(use liver detox),


लिवर डिटॉक्स(liver Detox) : लिवर को स्वस्थ रखने तथा डिटॉक्स के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का उपयोग भी काफी लाभकारी होता है, क्यूंकि आज-कल की जो हमारी लाइफस्टाइल है इसमें सही डाइट शामिल करना जिससे हम लिवर को स्वस्थ रख सके ये बहुत मुश्किल होता जा रहा है, इसलिए डाइट के साथ- साथ हम कुछ आयुर्वेदिक दवाओं को भी अपने डाइट में शामिल कर सकते है, जैसे गुडवेदा का लिवर डिटॉक्स   


गुडवेदा लिवर डिटॉक्स के फायदे:


गुडवेदा लिवर डिटॉक्स विशेष रूप से लिवर के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करती है। इसमें कई प्राकृतिक तत्व हैं जो लिवर को सही से काम करने के लिए सहायता करते हैं।


लिवर को सुधारना: गुडवेदा लिवर डिटॉक्स लिवर को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करती है। यह लिवर के कार्यों को बेहतर बनाए रखने में सहायक होती है और सुनिश्चित करती है कि वह सभी विषैले पदार्थों (Toxic substances)से मुक्त है।


विषाक्तता को कम करना (Reducing toxicity): इस आयुर्वेदिक दवा के ingredients लिवर की toxicity को कम करके उसे स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं और उसे ठीक से काम करने में सहायक होते हैं।


प्रतिरक्षा तंतु(Immune system) को बढ़ावा: इसमें मिल्क थिस्टल(milk thistle), टरमेरिक(turmeric), और एल कार्निटीन(L carnitine ) जैसे प्राकृतिक तत्व होते हैं, जो लिवर को बीमारियों से बचाए रखने में मदद करते हैं।तथा Immune system को improve करते हैं।


वजन के नियंत्रण में मदद: इस दवा के उपयोग से हमारा मेटाबोलिज्म सुधरता है और वजन को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।


फ्री रैडिकल्स से होने वाली क्षति को कम करना: इस दवा के उपयोग से फ्री रैडिकल्स के समस्या को कम किया जा सकता है, जिससे लिवर को होने वाले क्षति को रोका जा सकता है।


अल्कोहल से होने वाली समस्याओ को कम करना: यह दवा अल्कोहल के क्षति को कम करने में मदद करती है और लिवर को अल्कोहल से होने वाले नुकसान से बचाती है। 

इस तरह, गुडवेदा लिवर डिटॉक्स, लिवर की सुरक्षा में सहायक हो सकती है और इसे स्वस्थ रखने में मदद कर सकती है।

liver detox

Leave a comment

chatbot icon

Chat with me

×